राष्ट्रकवि दिनकर के मकान पर उप मुख्यमंत्री के भाई का कब्जा

Posted: July 30, 2013 in Children and Child Rights, Education, Politics, Youths and Nation

राष्ट्रकवि दिनकर के मकान पर उप मुख्यमंत्री के भाई का कब्जा, केंद्र ने बिहार सरकार को पत्र लिखा…

समर शेष है इस स्वराज को सत्य बनाना होगा,
जिसका है यह न्यास, उसे सत्वर पहुँचाना होगा,
धारा के मार्ग में अनेक पर्वत जो खड़े हुए हैं,
गंगा का पथ रोक इन्द्र के गज जो अड़े हुए हैं,
कह दो उनसे झुके अगर तो जग में यश पाएंगे,
अड़े रहे तो ऐरावत पत्तों से वाह जायेंगे,
समर शेष है, नहीं पाप का भागी केवल व्याध,
जो तटस्थ हैं, समय लिखेगा उनका भी अपराध।”
श्री रामधारी सिंह ‘दिनकर’

इन पंक्तियों को उद्धृत करते हुए केंद्र सरकार ने पिछले महीने बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार से अनुरोध किया है कि राष्ट्रकवि श्री रामधारी सिंह ‘दिनकर’ लिखित जिन ओजस्वी कविताओं को सुनकर हम सभी बड़े हुए और भारतीय सैनिकों ने तीन-तीन युद्ध में अपनी ‘विजय पताका’ लहराई थी, आज उनके ही बहु और बच्चों को सरकार के समक्ष अपना दामन फैला कर ‘न्याय की भीख’ मांगनी पड़े, यह दुखद है।

सरकार ने बिहार के मुख्य मंत्री से गुजारिश की है कि “इस मसले को भावनात्मक दृष्टि से हल करने की दिशा में अगर राज्य सरकार की ओर से पहल की जाती है, तो भारत के अब तक के एकमात्र “राष्ट्रकवि” के सम्मान से सम्मानित रामधारी सिंह दिनकर का अपमान नहीं होगा।

संभवतः सरकार का यह कदम लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती मीरा कुमार, राज्य सभा के अध्यक्ष और उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री कपिल सिब्बल की “विशेष पहल” और पिछले फरवरी माह में राष्ट्रकवि की पुत्र-वधू हेमंत देवी द्वारा प्रधान मंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को समर्पित एक ज्ञापन पर लिया गया है। स्वतंत्र भारत के इतिहास में संभवतः यह पहला कदम होगा जब स्वतंत्रता आन्दोलन के दौरान अपने ओजस्वी कविताओं और लेखनी के बल पर राष्ट्र को एक नई दिशा की ओर उन्मुख करने वाले लेखक के बारे में समग्र रूप से सुध ली गयी हो।

 आप सभी से अनुरोध है की इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करके राष्ट्रकवि के परिवार की सहायता करें |

रौशन भरद्वाज और राजीव चतुर्वेदी के फेसबुक वाल से साभार 

Advertisements
Comments
  1. giriiraj kishore says:

    Kaun hai up mm? kya rajnitigye ab divengat lekhkon ke gharon per bhi kabiz
    honge? Bihar to sahitye karon ka kasamman karnewala pradesh hai. vahan ki
    janta ye kaise bardast kar rahi hai.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s