आम आदमी पार्टी के मुखिया पर सनसनीखेज आरोप लगाया

Posted: November 20, 2013 in Education, Geopolitics, Politics, Youths and Nation

अरविन्द पर लगाये सनसनीखेज आरोप 
प्रवासियों की उपेक्षा से नाराज संगठन ने किया विरोध का ऐलान 
आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल के प्रवासी विरोधी रवैये से निराश प्रवासी भलाई संगठन का अनशन दूसरे दिन भी जारी रहा. जंतर मंतर पर जमे आंदोलनकारियों ने कहा कि गांधी टोपी पहन कर यूपी बिहार के प्रवासियों को खुल्लम खुल्ला धमकी देना बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस मामले में प्रवासी भलाई संगठन द्वारा जारी विज्ञप्ति के माध्यम से  संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष   अविनाश सिंह ने आम आदमी पार्टी के मुखिया पर सनसनीखेज आरोप लगाया है. संगठन के मुखिया के मुताबिक अविनाश के मोबाइल पर विगत चौबीस जुलाई को अरविन्द द्वारा दिल्ली छोड़ने और जान से मारने की धमकी दी गयी. इस धमकी के विरुद्ध अविनाश ने सत्ताइस जुलाई को महेंद्र नगर थाने में शिकायत भी दर्ज करवायी।  इस शिकायत पर कोई कार्यवाही न होने पर संगठन के दर्जनों कार्यकर्ताओं को सड़क पर उतरना पड़ा. आंदोलन के प्रमुख लोगों में राजू सिंह राना, डा. एम दीक्षित, डा. बलराम, शमीम अख्तर, शबीर हुसैन, मुकेश गुप्ता, अजय सिंह, राज बल्लभ सिंह, लड्डू लाल गुप्ता आदि लोग मौके पर मौजूद रहे

DSC_2853--ddddd (1) DSC_2860-dddd

पुलिस सूत्रों से घटना पर अग्रिम कार्यवाही स्पष्ट नहीं हो सकी है. विज्ञप्ति के अनुसार  अविनाश   के नेतृत्व में प्रवासी भलाई संगठन ने आम आदमी पार्टी प्रमुख की प्रवासी विरोधी मंशा और धमकी  के चलते विगत तीस जुलाई को पुलिस मुख्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करके पुलिस आयुक्त से सुरक्षा की गुहार भी लगाईं थी.
क्या था मामला 
विज्ञप्ति के अनुसार विगत ग्यारह जुलाई को तीर्थंकर महावीर मेडिकल कालेज की छात्रा नीरज भड़ाना की हत्या के मामले की सीबीआई जाँच के लिए हो रहे आंदोलन में अरविन्द केजरीवाल अपने एक दर्जन समर्थकों के साथ पहुंचे। संगठन का आरोप है कि अरविन्द ने आंदोलन को हाइजैक करने का प्रयास किया।  इस विषय में अरविन्द को  पत्र लिख कर संगठन ने अपना असंतोष जाहिर किया और प्रेस कांफ्रेंस भी किया। इसी की प्रतिक्रिया में अरविन्द पर धमकी देने के आरोप लगाये हैं.
आम आदमी पार्टी के मुखिया के प्रवासी विरोधी रवैये से निराश प्रवासी भलाई संगठन ने अरविन्द की तुलना ठाकरे से की है.  संगठन ने अविनाश की भूख हड़ताल के समर्थन में यूपी -बिहार के प्रवासियों से एकजुट होने का आह्वान किया है.
बढ़ेंगी पार्टी की  मुश्किलें      
जानकारों  का मानना है कि अन्ना हजारे के मामले और फण्डिंग के आरोपों से जूझ रही पार्टी के मुखिया पर लगे सनसनीखेज आरोपों से पार्टी की छवि धूमिल हुई है. यूपी-बिहार के लोगों के खिलाफ इन आरोपों के बाद  पार्टी को प्रवासी जनाधार की चुनौती से भी जूझना होगा। इस मामले में पार्टी मुखिया की तरफ से कोई प्रतिक्रिया प्राप्त नहीं हो सकी है.  विज्ञप्ति में दिए अरविन्द के फोन नंबर पर कोई जवाब नहीं मिला.
arvind
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s